bakrid 2024 jharkhand
Share This Post

bakrid 2024 jharkhand: सोमवार की सुबह से ही लोगों ने सोशल मीडिया पर बकरीद की शुभकामनाएं भेजनी शुरू कर दीं। जैसे-जैसे दिन चढ़ा, ‘ईद उल-अज़हा’ (Eid al-Adha) का खुमार पूरे झारखंड में देखने को मिला। बीते दिनों से लगातार बकरों की खरीद की खबरें सुर्खियों में रहीं और सोमवार को धूमधाम से बकरीद मनाई गई।

bakrid 2024 jharkhand: बकरीद के मौके पर झारखंड में बवाल

इस त्योहार के मौके पर झारखंड में कई जगहों पर बवाल देखने को मिला। बकरीद के दौरान कहीं गौ हत्या की खबर आई तो कहीं प्रतिबंधित मांस के टुकड़े मिलने से काफी हड़कंप मचा। इन घटनाओं ने पूरे राज्य में तनाव का माहौल बना दिया। पुलिस को भी इन मामलों को संभालने के लिए तुरंत ऐक्शन में आना पड़ा।

पाकुड़ में गौमाता की कुर्बानी का विवाद

रांची और पाकुड़ में बकरीद के दिन गोवंश की कुर्बानी पर बड़ा बवाल मच गया। रांची के लोअर बाजार में गोवंश की कुर्बानी का वीडियो वायरल होते ही चारों ओर हंगामा होने लगा। पुलिस तुरंत एक्शन में आई और 2-3 आरोपियों को हिरासत में ले लिया। वहीं पाकुड़ में झारखंड और पश्चिम बंगाल के बॉर्डर पर भी ऐसी ही सनसनीखेज घटना हुई। इस घटना को लेकर गोपीनाथपुर और कृष्टानगर में दो समुदाय आपस में भिड़ गए। मारपीट, पथराव और बमबाजी भी हुई। हालात को काबू में करने के लिए कई थानों की पुलिस मौके पर पहुंची। बीजेपी और विश्व हिंदू परिषद (VHP) ने इन दोनों घटनाओं की कड़ी निंदा की और दोषियों को जल्द पकड़ने की मांग की।

बोकारो में प्रतिबंधित मांस के टुकड़े मिलने से हड़कंप

bakrid 2024 jharkhand: बोकारो में दामोदर नदी में प्रतिबंधित मांस का टुकड़ा मिलने से नाराज हिंदू संगठनों ने हंगामा किया। जारंगडीह के भगत सिंह चौक पर विरोध प्रदर्शन किया गया। बेरमो पुलिस ने उग्र लोगों को समझाने-बुझाने की कोशिश की और मौके पर बोकारो थर्मल और पेटरवार पुलिस के जवान पहुंच गए। ग्रामीणों का कहना है कि दामोदर नदी के जिस पानी में प्रतिबंधित मांस के टुकड़े फेंके गए, वहां से पूरे बेरमो कोयलांचल में पानी की सप्लाई होती है। यही नहीं, झारखंड में गौ हत्या पर कड़े प्रावधान लागू हैं। इसके बावजूद गोवंश की हत्या करने के पीछे बड़ी साजिश होने का आरोप लगाया गया। ग्रामीणों ने इस पर कड़ी कानूनी कार्रवाई की मांग की।

bakrid 2024 jharkhand: पुलिस की तत्परता और जांच

इन सभी घटनाओं के बाद पुलिस ने तत्परता से कार्रवाई की और कई आरोपियों को हिरासत में लिया। रांची और पाकुड़ की घटनाओं में शामिल आरोपियों की पहचान की जा रही है और जांच जारी है। पुलिस का कहना है कि जो भी दोषी पाया जाएगा, उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

धार्मिक संगठनों का रोष और मांग

bakrid 2024 jharkhand: बीजेपी और विश्व हिंदू परिषद ने इन घटनाओं की कड़ी निंदा की है और दोषियों को जल्द से जल्द गिरफ्तार करने की मांग की है। इन संगठनों का कहना है कि झारखंड में गौ हत्या पर कड़े कानून हैं, इसके बावजूद ऐसी घटनाएं हो रही हैं जो राज्य में शांति भंग कर सकती हैं। इन घटनाओं के पीछे बड़ी साजिश का आरोप लगाते हुए उन्होंने कड़ी कानूनी कार्रवाई की मांग की है।

धार्मिक सौहार्द्र और शांति की अपील

इन घटनाओं के बाद राज्य में धार्मिक सौहार्द्र बनाए रखने के लिए विभिन्न समुदायों के नेताओं ने शांति की अपील की है। उन्होंने कहा कि किसी भी धर्म के त्योहार के दौरान ऐसी घटनाओं से बचना चाहिए और पुलिस को हर संभव सहयोग देना चाहिए ताकि दोषियों को जल्द से जल्द पकड़ा जा सके और राज्य में शांति बनी रहे।

bakrid 2024 jharkhand: निष्कर्ष

bakrid 2024 jharkhand: झारखंड में बकरीद के मौके पर हुई घटनाओं ने राज्य में तनाव का माहौल बना दिया है। गौ हत्या और प्रतिबंधित मांस के टुकड़े मिलने से हुए बवाल ने लोगों में रोष और आक्रोश पैदा किया है। पुलिस की तत्परता और जांच जारी है, लेकिन धार्मिक संगठनों और समुदायों के नेताओं ने शांति और सौहार्द्र बनाए रखने की अपील की है। इन घटनाओं के पीछे की साजिश का पर्दाफाश करना और दोषियों को सख्त सजा देना आवश्यक है ताकि भविष्य में ऐसी घटनाओं से बचा जा सके और राज्य में शांति बनी रहे।

यह भी पढ़ें:

By JharExpress

JharExpress is hindi news channel of politics, education, sports, entertainment and many more. It covers live breaking news in India and World

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *