खुशहाल बचपन कार्यक्रम

खुशहाल बचपन कार्यक्रम के तहत 51 आंगनबाड़ी केंद्रों का हुआ स्वागत

Jharkhand Politics

मुख्यमंत्री श्री हेमन्त सोरेन ने कहा कि पिछली बार सरकार आपके द्वार कार्यक्रम का मुख्य फोकस बुजुर्गों, दिव्यांगों, विधवा एवं एकल महिलाओं को पेंशन से जोड़ना था। वहीं इस बार “आपकी योजना-आपकी सरकार- आपके द्वार” कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य आने वाली पीढ़ी को मजबूत करना है। इसी के तहत सावित्रीबाई फुले किशोरी समृद्धि योजना से 9 लाख बच्चियों को आच्छादित करने का काम किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार ऐसी योजनाएं बना रही हैं जिससे राज्य के होनहार बच्चे उच्चतर शिक्षा एवं प्रतियोगिता परीक्षाओं की तैयारी नि:शुल्क कर सकें। इसके साथ ही मुख्यमंत्री सारथी, स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड, जैसी योजनाओं से भी उन्हें लाभान्वित कराने की योजना बनाई जा रही है। वैसे बच्चे जो बड़े कॉलेजों में दाखिला प्राप्त कर लेते हैं, उन्हें 15 लाख तक की सहायता राशि सरकार उपलब्ध कराएगी। मुख्यमंत्री आज कृषि उत्पादन बाजार समिति मैदान, पाकुड़ में आयोजित “आपकी योजना-आपकी सरकार-आपके द्वार ” कार्यक्रम में लोगों को संबोधित करते हुए ये बातें कहीं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि आपकी सरकार आपके द्वार में 8 लाख आवेदन आवास से संबंधित प्राप्त हुए थे। इस हेतु केंद्र सरकार से स्वीकृति के लिए आवेदन भेजा गया था, जिसकी अभी तक कोई स्वीकृति प्राप्त नहीं हुई है। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार अगर राज्य का 13 सौ करोड़ रुपए का बकाया दे देती, तो आज राज्य में किसी को आवास के लिए सोचना नहीं पड़ता।

इस अवसर पर पाकुड़ जिला प्रशासन द्वारा चलाये जाने वाले हुनर अभियान के बारे में भी जानकारी दी गयी। इस अभियान के तहत गांव की 1000 महिलाओं को रोजगार से जोड़कर उन्हें स्वावलंबी बनाने का काम किया जाएगा, जिससे उन्हें सशक्त एवं सक्षम बनाया जा सके। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर जिला प्रशासन की स्मारिका पाकुड़ “आपकी योजना-आपकी सरकार-आपके द्वार ” का विमोचन भी किया। जिला प्रशासन द्वारा यहाँ के स्थानीय कलाकार विनय घोष द्वारा बनाई गई मुख्यमंत्री एवं उनकी पत्नी की पेंटिंग से मुख्यमंत्री को सम्मानित किया गया।

खुशहाल बचपन कार्यक्रम में मख्यमंत्री ने कुल 545.074 करोड़ रुपए लागत की 27 योजनाओं का शिलान्यास किया। जिसमें खुशहाल बचपन कार्यक्रम के तहत 51 आंगनबाड़ी केंद्र, विभिन्न सड़कों पर उच्चस्तरीय पुल, ग्रामीण जलापूर्ति योजना, सहकारिता भवन एवं गोदाम, सड़कों का निर्माण एवं चेक डैम निर्माण जैसी महत्वपूर्ण योजनाएं शामिल हैं। वहीं 21.003 करोड़ रुपए की 42 योजनाओं का उद्घाटन किया, जिसमें संस्कृति कला केंद्र भवन एवं अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति छात्रावास की मरम्मत, सरकारी आवास का निर्माण, पुल-पुलिया, छठ-घाट,तालाबों का सौंदर्यीकरण, पीसीसी पथ, खुला जिम, साइंस एंड टेक्नोलॉजी की लैबोरेट्री का निर्माण एवं ग्रामीण पथों का सुदृढ़ीकरण एवं निर्माण शामिल है। इस अवसर पर मुख्यमंत्री द्वार कुल 53,946 लाभुकों के बीच 158.355 करोड़ रुपए की परिसंपत्ति का वितरण किया गया।

इनकी रही उपस्थिति

खुशहाल बचपन कार्यक्रम में मंत्री संसदीय कार्य एवं ग्रामीण विकास विभाग श्री आलमगीर आलम, मंत्री श्रम, रोजगार प्रशिक्षण एवं कौशल विकास विभाग श्री सत्यानंद भोक्ता, सदस्य झारखंड विधानसभा-सह-कार्यकारी अध्यक्ष 20 सूत्री कार्यक्रम कार्यान्वयन समिति झारखंड श्री स्टीफन मरांडी, सांसद श्री विजय हांसदा, विधायक लिट्टीपाड़ा श्री दिनेश विलियम मरांडी, जिला परिषद अध्यक्ष श्रीमती जूली हेम्ब्रम, मुख्यमंत्री के सचिव श्री विनय कुमार चौबे, उपायुक्त पाकुड़ श्री वरुण रंजन, पुलिस अधीक्षक श्री हृदीप पी. जनार्दनन समेत कई अधिकारी उपस्थित रहे।

HOME YOUTUBE

Share This Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *